FerMiyon : part 1

FerMiyon

Reverse-75000

सुबह के 9:00 बजे

डॉक्टर डी की स्पेसशिप रिवर्स के घर के सामने उतरती है और डॉक्टर डी उस स्पेसशिप से बाहर आते हैं लेकिन काफी घबराई हुई स्थिति में और आकर घर का दरवाजा खटखटाते हैं ।

युगल दरवाजा खोलता है ।

युगल -अरे डॉक्टर जी आप ……..

डॉक्टर डी ( बात को बीच में ही काटते हुए ) – बात करने का वक्त नहीं है तुम दोनों मेरे साथ चलो ।

युगल – साथ ! पर कहां ?

रिवर्स – अरे डॉक्टर डी आप , क्या बात है आज आप इतना घबरायें हुए कैसे हैं ?

डॉक्टर डी –  रिवर्स जल्दी अपना सूट पहन लो और वो वाला सूट पहनना जो मैंने तुम्हें अभी-अभी दिया था ।

रिवर्स – ठीक है , मैं अभी पहन कर आया , पर हुआ क्या है यह तो बता दीजिए ।

डॉक्टर डी –  मैं तुम दोनों को रास्ते में सब बता दूंगा , पर अभी निकलो यहां से और मेरे साथ चलो ।

रिवर्स – थोड़ा सा तो बता दीजिए मुझसे इतना सस्पेंस बर्दाश्त नहीं होता ।

डॉक्टर डी – बस यूं समझ लो कि यह दुनिया खत्म होने वाली है ।

रिवर्स – आईला , अभी तो मेरा 3 महीने का नेट पैक बाकी है ।

डॉ डी –  यह मजाक का वक्त नहीं है रिवर्स! चलो अब ।

बस युगल तैयार हो जाए , मुझे तो 2 सेकंड लगेंगे सुपर स्पीड से सूट पहनने में , तब तक मैं निधि को भी बुला लेता हूं ।

डॉक्टर डी – नहीं नहीं! निधी को मत बुलाओ , हम स्पेस में जा रहे हैं और निधि तुम दोनों की तरह स्पेस में सरवाइव नहीं कर सकती मैं स्पेसशिप में तुम दोनों का इंतजार करता हूं । जल्दी आ जाओ !

रिवर्स – ठीक है , युगल जल्दी आ ।

युगल – बस आ गया , जूते पहन लूं । अरे तू अभी तक तैयार नहीं हुआ ??

रिवर्स – अपनी आंखें बंद कर ।

युगल – क्यों ?

रिवर्स – अरे कर तो सही ।

युगल – हां कर ली ।

रिवर्स –  अब खोल …….टन टना लो मैं तैयार हूं ।

युगल – चल , अब चलें ।

युगल और रिवर्स दोनों स्पेसशिप में बैठ जाते हैं और डॉक्टर टेक ऑफ करते हैं ।

रिवर्स – डॉक्टर डी , यह नया सूट तो सच में बहुत कमाल का है ऐसा लग रहा है जैसे मैंने 2018 में आई अवेंजर्स इंफिनिटी वॉर के स्पाइडरमैन वाला सूट पहन लिया हो ।

डॉ डी – इसके फीचर्स भी तुम्हें बहुत पसंद आएंगे बस मेरे पास अभी वह सब बताने के लिए टाइम नहीं है पर तुम्हारा इंटेलिजेंट प्रतिरूप इसके बारे में तुम्हें सब बता देगा ।

रिवर्स – ओके ओके , मैं संभाल लूंगा , पर आप यह तो बताइए मुसीबत क्या है और हम कहां जा रहे हैं ?

डॉक्टर डी –  इस धरती से 3 दिन की प्रकाश दूरी पर बने डायमेंशन पोर्टल के पास ।

रिवर्स – डायमेंशन पोर्टल वो भी धरती के इतने पास! यह कैसे हो सकता है ?

डॉक्टर डी –  यह सब मेरी वजह से हुआ है ।

रिवर्स – आपकी वजह से ?

डॉक्टर डी – मैं तुम्हें पूरी कहानी बताऊंगा पर फिलहाल हमें उस डायमेंशन पोर्टल तक पहुंचना होगा वो भी जल्दी से जल्दी ।

रिवर्स – हम 3 दिन से पहले तो वहां किसी भी हाल में नहीं पहुंच सकते ।

डॉ डी –  पहुंच सकते हैं , अपनी टाइम एनालॉग  और डार्क स्पेस दोनों पावर को एक साथ एक्टिव करो ।

रिवर्स – क्या ,क्या दोनों पावर एक साथ ! मेरे से तो अलग-अलग भी ये पावर नहीं संभाली जाती तो दोनों एक साथ कैसे सभांलूगा ।

डॉक्टर डी –  मेरा यह सूट , यह मैंने इसलिए ही बनाया है कि तुम अपनी सभी पावर का सही ढंग से उपयोग कर सको क्योंकि अब आने वाले दिनों में उसकी बहुत जरूरत पड़ने वाली है । मेरा यह सूट तुम्हारी पावर को स्टेबिलिटी देगा ।

रिवर्स – ठीक है ठीक है ,अगर आप कहते हैं तो मै दोनों पावर का एक साथ इस्तेमाल कर लेता हूं पर इससे होगा क्या ? मतलब दोनों पावर का कॉन्बिनेशन कैसे काम करेगा ।

डॉ डी- टाइम एनालॉग की पावर हमारे आसपास के एन्वायरमेंट के टाइम को स्लो कर देगी और डार्क स्पेस की पावर  स्लो टाइम में एक जगह से दूसरी जगह जाने वाले एक शॉर्ट-कट रास्ते की तरह काम करेगी । इससे हम कुछ ही मिनटों में बहुत सारी डिस्टेंस तय कर लेंगे ।

रिवर्स – मतलब हम शॉर्ट-कट डायमेंशन ट्रेवलिंग से रास्ता तय करेंगे वाऊ! मैं अपने साथ ऐसा भी कर सकता हूं , मुझे तो पता ही नहीं था ।

डॉक्टर डी – अभी तो न जाने ऐसी और भी कई सारी बातें हैं जिसके बारे में तुम्हारा जानना बाकी है ।

रिवर्स – ठीक है, मैं दोनों पावर का एक साथ यूज़ करने जा रहा हूं ।

डॉक्टर डी – उससे पहले तुम अपने इंटेलिजेंट प्रतिरूप को यहां बुलाओ उसकी जरूरत पड़ने वालीं है और हां अपने उस प्रतिरूप को भी यहां हाजिर करो जिसे बाहरी प्लैनेट और वहां के वातावरण में पाई जाने वाली चीजों की जानकारी है ।

रिवर्स – ठीक है जैसा आप चाहे ।

( रिवर्स दोनों को वहां उपस्थित करता है और एक लंबी सांस लेता है तथा एक दम से सांस छोड़ता है। देखते ही देखते आसपास अंधेरा सा छा जाता है तारों से आने वाली रोशनी धीरे-धीरे मंद हो जाती है और अंत में बिल्कुल गायब )

मैंने कर दिखाया , मैंने कर दिखाया!  युगल तू देख रहा है , मैंने दोनों पावर एक साथ एक्टिव कर दी !

युगल – हां हां देख रहा हूं , यह सच में बहुत गज़ब नजारा है जो बार-बार देखने को नहीं मिलता ।

रिवर्स – काश निधी भी यहां होती तो कितना मज़ा आता ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – मज़ा और तुम्हारी इस खतरनाक डार्क स्पर्श की दुनिया मे , हा हा हा अच्छा मजाक है ।

रिवर्स – हो यार….. ये इतनी भी खतरनाक नहीं है बस मुझे इतना नहीं पता कि यह और किन-किन आयामों से जुड़ी हुई है ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – लगभग ब्रह्मांड के सभी आयामों से।  इस डार्क स्पेस का प्रयोग कर किसी भी आयाम में ,कभी भी ,किसी भी वक्त में , जाया जा सकता है ।

रिवर्स – हां पर इस पावर को संभालना काफी मुश्किल है । इसलिए मैं इसका यूज़ नहीं करता ।

इंटेलिजेंट रिवर्स- तुम इस पावर के कमांड मेरे हाथों में दे सकते हो क्योंकि मैं इसके बारे में बहुत कुछ जानता हूं ।

रिवर्स – नहीं , रहने भी दो , तुम्हारा काम बस जानना है, यह पावर वावर बस मुझ पर ही छोड़ दो ,वो देखो मेरी दुनिया का चांद । डॉ डी जैसा कि आप का कहना है कि डार्क स्पेस वाली दुनिया मेरी अपनी दुनिया है तो क्या मैं इसे अपने हिसाब से चेंज नहीं कर सकता ?

डॉक्टर डी – कर सकते हो , पर उसके लिए तुम्हारा अभी बहुत कुछ सीखना बाकी है पर फिर भी इस दुनिया को बदलने का कोई फायदा नहीं क्योंकि यह दुनिया तुम्हारे आयाम के साथ-साथ ब्रह्मांड के सभी दूसरे आयामों से भी जुड़ी हुई है । तुम इसको एक मल्टी डायमेंशन वाली दुनिया भी कह सकते हो जिसके एक आयाम पर तुम्हारा कंट्रोल है ।

रिवर्स – तो मैं अपनी दुनिया के सारे आयाम बंद कर दूंगा ।

डॉक्टर डी – तुम सिर्फ इस दुनिया को नियंत्रित कर सकते हो, यहां के आयामों को नहीं। वैसे भी आयामों पर कभी किसी का नियंत्रण नहीं होता ।

रिवर्स – आपने तो वह वाली बात कर दी की चॉकलेट बच्चे की है पर वह उसे खा नहीं सकता ।

डॉ डी – शायद तुम नहीं जानते कि तुम कितने भाग्यशाली हो क्योंकि जो प्रतिभा और क्षमताएं तुम्हारे पास है वह शायद इस ब्रम्हांड के किसी भी और जीव के पास नहीं है । इसलिए ही तो मैं तुम्हें अपने मिशन पर लाया हूं क्योंकि इस बड़ी समस्या से अब तुम ही निपट सकते हो ।

रिवर्स – ओ सच! इसको तो मैं भूल ही गया था आपने यह तो बताया ही नहीं कि समस्या क्या है आखिर उस डायमेंशन से होगा क्या ?

डॉक्टर डी-  बस हमें वहां पहुंचने दो , तुम्हें सब पता चल जाएगा कि मैंने क्या गड़बड़ कर दी और उससे क्या समस्या उत्पन्न होने वाली है ।

रिवर्स – वह सब कुछ तो ठीक है लेकिन हमें कुछ तो बता दीजिए , थोड़ा बहुत ही ताकि हमें आईडिया मिल जाए ।

डॉ डी – तुम्हें याद है ना कुछ दिन पहले तुमने मुझे फर्मी लेवल एक्टिंव करने वाला यंत्र दिया था ।

रिवर्स – हां ।

डॉक्टर डी – तो उसे यहां से ले जाने के बाद मैंने उस पर कुछ प्रयोग किए थे ।

रिवर्स – हां तो ।

डॉक्टर डी – तो उस प्रयोग के दौरान मैंने गलती से , एक छोटी सी गलती से वह यंत्र कुछ सेकंड के लिए शुरू कर दिया था ।

रिवर्स – आगे ।

डॉक्टर डी – इतने कम समय के लिए चलने के कारण हम जहां पर भी जा रहे हैं वहां पर एक डाएमेंशन पोर्टल बन गया है ।

रिवर्स – हां तो इसमें बड़ी प्रॉब्लम वाली कौन सी बात है ?

डॉक्टर डी – बड़ी प्रॉब्लम वाली बात यह है कि हमें बिल्कुल नहीं पता कि वह डायमेंशन पोर्टल कौन से आयाम का है और उसका इस मशीन से क्या लेना-देना है । उससे भी बड़ी प्रॉब्लम यह है कि अगर इस डायमेंशन पोर्टल का कनेक्शन  फर्मी एनर्जी से हुआ तो आने वाले खतरे को कोई नहीं रोक सकता ।

रिवर्स – ऐसा जरूरी नहीं है । हो सकता है यह हमारे लिए खतरनाक ना हो ।

इंटेलिजेंट रिवर्स- फर्मी लेवल ही अपने आप में एक खतरा है । यह ब्रह्मांड की सबसे खतरनाक ऊर्जा है । इसके एक कण में ही इतनी उर्जा होती है कि यह एक पुरी आकाशगंगा को एक साथ खत्म कर दें । हिग्स बोसोन से हजार गुना ज्यादा छोटा होने के कारण इस कण को अभी तक क्वांटम थ्योरी से आब्जर्व नहीं किया जा सका है ।

डॉक्टर डी – हां , शायद तक इससे भी ज्यादा खतरनाक ।

अचानक अंतरिक्ष में गायब हो चुके तारे वापिस धीरे-धीरे नजर आने लगते हैं और आसपास का काला अंधेरा भी छट जाता है ।

युगल – लगता है हम पहुंच चुके हैं ।

रिवर्स – हां पर यह कौन सी जगह है ।

डॉ डी – स्पेसशिप का कंप्यूटर बता रहा है कि हम बुध ग्रह के आकार के जितने बड़े पत्थर के टुकड़े के पास है जो कि किसी सौरमंडल का आवारा ग्रह लग रहा है ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – हां , यह वीरान अंतरिक्ष में घूम रहे किसी सौरमंडल का आवारा ग्रह ही है ।

रिवर्स – पर हमें यह दिख क्यों नहीं रहा ?

डॉ डी – क्योंकि देखने के लिए यहां रोशनी नहीं है और आस-पास के तारों की रोशनी भी इसकी विजिबिलिटी के लिए कम है । अगर यह अपने तारे के पास होता तो मैं इसे आसानी से देख सकते थे ।।

इंटेलिजेंट रिवर्स – लग रहा है कि यह ग्रह ऐसे वायुमंडल से भरा है जो आसपास के तारों से आने वाली रोशनी को ऑब्ज़र्व कर रहे हैं इसलिए यह बिल्कुल भी दिखाई नहीं दे रहा ।

डॉ डी- इतने छोटे ग्रह पर गैस की वायुमंडल! हां हो सकता है पर सब कुछ अब नीचे जाकर ही पता चलेगा ।  ठीक है मुझे उस आयाम कि इस ग्रह पर लोकेशन मिल गई है । मैं जहाज को नीचे उतार रहा हूं ।

डॉक्टर डी‌ की स्पेस शिप उस अनजान ग्रह पर उतरती है और स्पेस शिप का दरवाजा खुलता है । स्पेस शिप से रिवर्स , रिवर्स के प्रतिरूप , युगल और डॉक्टर डी निकल कर बाहर आते हैं ।

डॉक्टर डी , जिन्होंने एक भारी भरकम स्पेस सूट पहन रखा है । उनके हाथ में एक अजीब सी मशीन होती है जो बीप बीप का साउंड कर रही है ।

युगल – यह ग्रह तो कितना उजड़ा सा लग रहा है और सिवाय अंधेरे के कुछ दिख भी नहीं रहा ।

रिवर्स – हां अंधेरा ज्यादा है इसलिए ही तो तुम हमारे साथ हो , डॉक्टर की इन बैटरियों से कुछ नहीं होने वाला ,चल अपनी बॉडी चमका और यहां ढेर सारी रोशनी कर ।

युगल – मुझे भी ऐसा लगता है , लो‌ फिर ये में लगा चमकने

डॉ डी – युगल तुम्हारी रोशनी तो सच में बहुत ज्यादा है और इस रोशनी से कुछ दूर तक की चीजें भी आराम से दिखने लगी है , बस अब तुम दिखना बंद हो गए हो ।

युगल – हां , यह मेरे ज्यादा चमकने के कारण हो रहा है पर मुझे सब दिखाई दे रहा है ।

डॉक्टर डी – रुको – रुको , हम बहुत करीब हैं , वो आयाम हमारे पास ही है , यहीं कहीं ।

रिवर्स – पर यहां तो पत्थर की चट्टानों के सिवाय और कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा ।

रिवर्स का इंटेलिजेंट प्रतिरूप – अक्सर आयामों में अपनी खुद की चमक होती है , युगल तुम अपना चमकना बंद कर दो , और सभी अपनी अपनी टॉर्च भी ऑफ कर दो वो अपने आप दिख जाएगा ।

सभी ऐसा ही करते हैं और आसपास देखने लगते हैं

रिवर्स – यहां तो कुछ भी नहीं दिख रहा ।

डॉक्टर – इसलिए क्योंकि वह मेरे सामने …

रिवर्स – क्या , कहां ?

युगल – क्या , कहां ?

रिवर्स के बाकी प्रतिरूप भी – क्या , कहां ?

युगल – क्या यह एक छोटा सा चमकता पत्थर एक आयाम है ? इतना छोटा आयाम मैंने तो सुना था वह बहुत बड़े बड़े होते हैं । ये तो 2 – 3 इंच का ही लग रहा है !

सब उस छोटे से 2-3 इंच के आयाम के आसपास एक घेरा सा बना लेते हैं और उसे देखने लगते हैं । चारों ओर एक शांति सा माहौल होता है कि अचानक रिवर्स ज़ोर-ज़ोर से हंसने लगता है ।

रिवर्स – हा हा हा ……ह ह ह ……हु हु … क्या डॉक्टर डी आप भी …..हु हु…. यह छोटा सा आयाम  आपको खतरनाक , बहुत खतरनाक लगता है ।

डॉक्टर डी – यह छोटा जरूर हैं पर खतरनाक बहुत है ।

रिवर्स – हूं हूं हूं यह और खतरनाक , यह छूटकु सा आयाम ….हु हु हु आज तो मेरी हस हस कर जान ही निकल जाएगी । यह भला कैसे खतरनाक हो सकता है ?

डॉ डी – क्या तुम्हें कुछ संदिग्ध गतिविधियां नजर आ रही है रिवर्स ।

रिवर्स –  हु हु हु … ना ना , मुझे बस सिवाय अंधेरे के कुछ भी नजर नहीं आ रहा ।

डॉ डी- मैं तुमसे नहीं तुम्हारे इंटेलिजेंट वाले प्रतिरूप से पूछ रहा हूं ।

रिवर्स का इंटेलीजेंट प्रतिरूप – नहीं आसपास मुझे तो कुछ संदिग्ध नजर नहीं आ रहा ।

डॉक्टर डी – ठीक है , मैं इस आयाम को ब्लैक बॉक्स में बंद कर लेता हूं ताकि आगे हमें इससे कोई खतरा ना हो ।

रिवर्स – पर ब्लैक बॉक्स में रखने से क्या होगा ।

डॉक्टर डी – ब्लैक बॉक्स एनर्जी का एक अच्छा अवशोषक है वह धीरे-धीरे इस आयाम की सारी एनर्जी को सोख लेगा जिससे यह आयाम नष्ट हो जाएगा ।

रिवर्स – यह तो अच्छा आइडिया है ।

युगल – मतलब मुसीबत खत्म ।

डॉक्टर डी – हां फिलहाल के लिए तो हमें कोई खतरा नहीं है ।‌चलो अब इस आयाम को लेकर वापस पृथ्वी चलें ताकि इसे खत्म किया जा सके ।

युगल – चलिए ।

रिवर्स – चलो छोड़ो यह सब एक मजाक था , मेरा मतलब मेरा यह हसना ,  चलो अब चलें ।

युगल –  धरती से 3 दिन की प्रकाश दूरी पर मजाक , अच्छा हे …लोगों को बताने के लिए कुछ मिल गया ।

रिवर्स – जरा रुकना ‌।

युगल – क्यों क्या हुआ ।

रिवर्स – मुझे कुछ महसूस हो रहा है , ऐसा लग रहा है जैसे यहां हमारे सिवा कोई और भी है । कुछ ऐसा जिसे हम देख नहीं पा रहे हैं ।

युगल – हमने चारों तरफ देखा ना यहां कोई नहीं है ।

रिवर्स – नहीं नहीं , मेरी सेन्सीविटी क्षमता मुझे धोखा नहीं दे सकती , यहां कुछ तो है जो हमें नजर नहीं आ रहा मेरा इंटेलिजेंट वाला प्रतिरूप ” इंटेलिजेंट रिवर्स ” वह कहां है ।

रिवर्स का इंटेलिजेंट प्रतिरूप और डॉक्टर डी जो की स्पेस शिप मे जा रहे थे ।

तभी डॉक्टर डी रिवर्स के इंटेलिजेंट प्रतिरूप को लात मार देता है और उसे बाहर गिरा देता है ।

युगल- वह तो स्पेसशिप में जा रहा ……

इससे पहले कि यूगल रिवर्स और  रिवर्स का इंटेलिजेंट प्रतिरूप कुछ समझ पाते डॉक्टर डी स्पेस शिप को लेकर रफूचक्कर हो जाते हैं । युगल और रिवर्स दोनों दौड़ कर रिवर्स के इंटेलिजेंट प्रतिरूप के पास पहुंचते हैं ।

रिवर्स –  क्या हुआ ? तुम ठीक तो हो ना और यह डॉक्टर डी कहां निकल लिए ?

इंटेलिजेंट रिवर्स – पता नहीं उनका बिहेवियर अचानक से बदल गया और वह कुछ अजीब सा बड़बड़ाए जो मुझे समझ में नहीं आया और फिर इसके बाद उन्होंने मुझे लात मार कर बाहर गिरा दिया ।

युगल – पर डॉक्टर डी, वो तो ऐसा कभी नहीं कर सकते तो यह हुआ कैसे ?

इंटेलिजेंट रिवर्स – उनके बोलने के तरीके से ऐसे लग रहा था मानो उनका अंदाज बदल गया हो या फिर उन पर किसी ने कब्जा कर लिया हो ।

रिवर्स – मुझे इस सुनसान ग्रह पर एक अजीब सी हलचल महसूस हो रही थी । तुम ,इंटेलिजेंट रिवर्स पता करो कि वह क्या है ।

युगल – स्पेस शिप के बिना हम वापस घर कैसे जाएंगे और हम इस वक्त धरती से 3 दिन की प्रकाश दूरी पर है । एक बिल्कुल सुनसान और वीरान ग्रह पर जिसका अपना कोई तारा भी नहीं है मतलब यहां हमें किसी तरह की मदद का मिलना भी संभव नहीं ।

रिवर्स – परेशान मत हो हमारे पास बहुत से तरीके हैं यहां से वापिस जाने के , लेकिन उससे पहले हमें यह पता लगाना होगा कि यहां पर ऐसा क्या अजीब हुआ जिसकी वजह से डॉक्टर का व्यवहार अचानक बदल गया । सबसे पहले मैं इस ग्रह की जानकारी चाहता हूं और इस में मेरी मदद करेगा ग्रह संबंधी सारी जानकारी रखने वाला मेरा प्लेनेट्री प्रतिरूप ।

प्लेनेट्री प्रतिरूप – तुमने याद किया और मैं आ गया ।

रिवर्स – ठीक है तुम मुझे जल्दी से यह पता लगाकर बताओ कि इस प्लेनेट की क्या कंडीशन है और क्या नहीं  । वह सब पता लगाओ जो तुम लगा सकते हो।

प्लेनेट्री रिवर्स – हम्म ….. ओके कुछ ही देर में तुम्हें इस ग्रह का पूरा बायोडाटा मिल जाएगा ।

रिवर्स – तुम्हें कुछ मिला ?

इंटेलिजेंट रिवर्स – हां बस मुझे थोड़ा सा समय और  दो । एक बार मै समझ जाऊ कि डॉक्टर डी की ये मोशन ऑब्जरवेशन वाली मशीन कैसे काम करती है तो मैं सब बता दूंगा ।

युगल – और मैं  , मै क्या करूं

रिवर्स – तुम हमें रोशनी दे सकते हो लेकिन थोड़ी, क्योंकि मैं नहीं चाहता कि इस वीरान सुनसान ग्रह पर जहां बस अंधेरा ही अंधेरा है , पर तुम्हारी ऊर्जा में कमी आ जाए । इसलिए तुम अपनी ऊर्जा का प्रयोग नियंत्रित मात्रा में ही करना ।

युगल – ठीक है मैं अपनी ऊर्जा का उपयोग नियंत्रित मात्रा में ही करूंगा ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – ओएमजी अच्छा यह बात है यह तो बहुत बड़ी गड़बड़ हो गई ।

रिवर्स – क्या हुआ ?

इंटेलिजेंट रिवर्स – तुम्हें पता है जब हम यहां आए थे तो मैंने कहा था कि इस ग्रह के आस-पास एक गैसीय वायुमंडल है ।

रिवर्स – हां याद है

इंटेलिजेंट रिवर्स – असल में वह कोई गेंसीय वायुमंडल नहीं हे बल्कि अरबों-खरबों छोटे सूक्ष्मजीवों का समूह है जो इस पूरे ग्रह पर विचरण कर रहा है ।

रिवर्स – क्या! छोटे जीव !

इंटेलिजेंट रिवर्स – हां छोटे जीव बहुत ही सूक्ष्म तरह के जीव जो कि एक व्यक्ति की तरह व्यवहार कर रहे हैं लेकिन इनके गुण बैक्टीरिया से मिलते हैं । इनकी हरकतों से लग रहा है कि इनके पास अपना दिमाग भी है जो कि काफी उच्च स्तर का है।

रिवर्स – लेकिन यह छोटे-छोटे जीव यहां पर आएं कैसे और हो सकता है कि इनकी वजह से ही डॉक्टर डी भी बदल गये हो ।

तभी प्लेनेट्री रिवर्स वहां आता है ।

प्लेनेटरी रिवर्स – मैं इन छोटे-छोटे जीवो को जानता हूं क्योंकि मैंने इनके बारे में एक किताब में पढ़ा है यह एक तरह के ऐसे बैक्टीरिया हैं जो दूसरे के दिमाग की सोचने की क्षमता को प्रभावित करते हैं‌ । पर यह जीव हमारी इस आकाशगंगा में नहीं पाए जाते जिसका सीधा सीधा मतलब है यह किसी दूसरी आकाशगंगा से आए हैं ।

इंटेलिजेंट रिवर्स –  तुम्हारे कहने का मतलब मैं समझ गया यह छोटे जीव उसी डायमेंशन से यहां आए हैं  ।

रिवर्स – वह छोटा 2 इंच वाला डायमेंशन ,  वो उन्हीं के लिए था ।

प्लेनेट्री रिवर्स  – ठीक है अब धीरे-धीरे सारी कहानी समझ में आ रही है लेकिन इनका असर हम पर क्यों नहीं हो रहा ।

रिवर्स –  क्योंकि हम आम इंसान नहीं हैं , यह हमारे दिमाग की क्षमता को प्रभावित नहीं कर सकते और ऊपर से हमारी दिमाग की सरचना जटिल भी है ना की किसी आम इंसान की तरह सरल

इंटेलिजेंट रिवर्स – रुको रुको मुझे कुछ और पता चला है । यह जीव धीरे-धीरे कम हो रहे हैं , शायद यह खत्म हो रहे हैं मतलब कि यह यहां के वायुमंडल में नहीं जी पा रहे हैं । यह तब तक ही यहां पर थे जब तक वह डायमेंशन यहां पर था और उस डायमेंशन के यहां से जाने के बाद इनके खत्म होने का सिलसिला भी शुरू हो गया है ।

रिवर्स – और डॉक्टर डी उसी डायमेंशन को लेकर धरती की तरफ जा रहे हैं , दोस्तों धरती खतरे में हैं अगर यह जीव धरती पर पहुंच गए तो वहां पर तो यह हंगामा ही मचा देंगे ।

प्लेनेट्री  रिवर्स – अगर धरती का वायुमंडल इन के लिए अनुकूल हुआ तब तो इन्हें रोकना भी नामुमकिन हो जाएगा । एक तरह से यह तो पूरी धरती पर ही कब्ज़ा कर लेंगे ।

युगल – यह तो सच में बहुत बड़ी समस्या हो गई और इस समस्या में हमारी पूरी धरती खतरे में है ।
हमें जल्दी से वहां पहुंचना होगा ।

प्लेनेटरी रिवर्स – हम इस हालत में यहा सें 6 दिन से पहले नहीं जा सकते ।

रिवर्स – क्या कहा , पर क्यों

प्लेनेट्री रिवर्स – यहां से वापिस जाने का हमारे पास एक ही रास्ता है तुम्हारे द्वारा टाइम एनालॉग और डीप डार्क स्पेस की पावर का इस्तेमाल कर बनाया गया शॉर्टकट रास्ता , जो हमें धरती और इस ग्रह से जोड़ता है पर मैंने अपने शुरुआती जानकारी में पता लगाया है कि यह ग्रह बृहस्पति ग्रह जितने बड़े दूसरे ग्रह के ईद गिर्द घूमता है । तुमने जो शॉर्टकट क्रिएट किया था वह ठीक उस वक्त इस ग्रह के ऊपर था जब हम यहां आए थे लेकिन अब इस ग्रह की स्थिति बदल चुकी है और हम उस शॉर्टकट से बहुत दूर हो गए हैं । और अब हम वापिस उस शॉर्टकट तक तभी पहुंचेंगे जब यह ग्रह वापस वहां से गुजरेगा जिसमें 6 दिन का समय लगेगा  ।

रिवर्स अपने इंटेलिजेंट रूप से पूछता है कि क्या हमारे पास कोई और रास्ता नहीं है ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – अगर हमारे पास कोई स्पेसशिप होती तब रास्ता हो सकता था लेकिन अब बस यही एक रास्ता है । हमें 6 दिन तक इंतजार करना होगा इस ग्रह का वापिस शॉर्टकट के पास से गुजरने का ‌।

रिवर्स – अगर मैं दूसरा शॉर्टकट क्रिएट कर दूं तो ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – नहीं पहला शार्टकट बंद किए बिना हम दूसरा शॉर्टकट क्रिएट नहीं कर सकते और उस शॉर्टकट को बंद करने के लिए भी तुम्हारा उसके पास होना जरूरी है ।

रिवर्स – मतलब यह साफ है कि अब हमारे पास ऐसा कोई रास्ता नहीं है जिससे हम 6 दिन से पहले धरती पर वापस पहुंच सकें।

रिवर्स अपने घुटने जमीन पर टेक देता है और एक अजीब सी सैड वाली मुद्रा बना कर बैठ जाता है ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – ( वह भी थोड़ा सा उदास हो जाता है ) हां रिवर्स

रिवर्स – हमने धरती को खो दिया , हम अब उसे नहीं बचा सकते ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – हां शायद एक तरह से यही सच है क्योंकि डॉक्टर डी को वहां पहुंचने में सिर्फ 30 मिनट लगेंगे और हमें वहां पहुंचने में 6 दिन ,  तब तक पता नही क्या होगा ।

रिवर्स – क्यों ,क्यों , क्यों आखिर मैं इतना कमजोर कैसे हो सकता हूं , वक्त पर नियंत्रण पाने के बावजूद भी वक्त से मार खा रहा हूं ।

इंटेलिजेंट रिवर्स – खुद पर कंट्रोल करो रिवर्स ,  मैंने भी यह कभी नहीं सोचा था कि इतनी सारी क्षमताएं होने के बावजूद भी हमें एक दिन इतना बेबस और लाचार होना पड़ेगा । अब हमारे पास इंतजार करने के सिवाय और कोई रास्ता नहीं है । यह प्लेनेटरी मोशन हमारे कंट्रोल में नहीं । अब बस इंतजार करना होगा और भगवान से यह दुआ भी कि हमारे वहां पहुंचने तक कुछ गड़बड़ ना हो ।

फिर क्या हुआ?

क्या बचा सका रिवर्स धरती को?

या दूसरे आयाम से आई वो बैक्टीरिया रुपी मौत ने पूरी पृथ्वी को निगल लिया?

इंतज़ार करें नेक्स्ट पार्ट का , और कमेंट कर हमे बताएं आपको हमारी कहानियां कैसी लगती हैं।

धन्यवाद#😊

राइटर :- Aman aj

एडिटर :- Talha faran ali

Our social links :

website- www.comichaveli.com
Twitter-http://twitter.com/comichaveli
Instagram-http://instagram.com/comichaveli
Facebook-http://www.facebook.com/comichaveli
Pinterest-http://pinterest.com/comichaveli
subscribe- http://www.youtube.com/c/ComicHaveli

Disclaimer – These stories are written and published only for entertainment. comic haveli and writers had no intent to hurt feeling of any person , community or group. If you find anything which hurt you or should not be posted here please highlight to us so we can review it and take necessary action. comic haveli doesn’t want to violent any copyright and these contents are written and created by writers themselves. The content is as fan made dedications for comic industry. if any name , place or any details matches with anyone then it will be only a coincidence.

Facebook Comments

5 Comments on “FerMiyon : part 1”

  1. सब से पहले तो बधाइयां। एक नई कहानी शुरू हो चुकी है और इसे प्लीज़ अच्छे से और जल्द से जल्द खत्म करना यार।
    अब आते हैं कहानी पर।
    वैसे तो मैं रिव्यू नही लिखता तो भी चलता क्योंकि मैं ही एडिटर हूँ। ही ही ही। पर लिख ही दे रहा हूँ वरना आप रोने न लग जाओ।
    कहानी की शुरुआत हुई डॉक्टर डी की पागलपंती से। डॉक्टर डी श्रीमान ने बावले पन में(ज़्यादा काबिल बनने के चक्कर में) फर्मी लेवल एक्टिव करने वाले यंत्र को चालु कर दिया। और वहीँ से शुरू हुई सारी गड़बड़।
    कुल मिलाकर ये कहानी सब से हटकर है। पर अभी तक हमे ये नही पता चला की रिवर्स के पास वो यंत्र कैसे आया?
    शायद मुझे पता हो पर मैं भूल गया होऊं! कुछ भी हो सकता है।
    डॉक्टर डी , रिवर्स तथा युगल ने तीन दिन की प्रकाश दूरी को कुछ ही देर में तय कर लिया। और ये सब हुआ रिवर्स की सुपर पावर्स से। रिवर्स सच में बहुत पावर फुल है। पर अभी तक हमे रिवर्स का ओरिजिन जानने को नही मिला ।
    हो सकता है मैं जानता हूँ पर भूल गया होऊं!
    कुछ भी हो सकता है।

    खैर ! अगर मैं नही जानता तो प्लीज़ Aman भाई ओरिजिन भी लिखो। ताकि पता चले रिवर्स के पास ऐसी खतरनाक शक्तियां आईं कैसे?

    और अंत में। अब रिवर्स , डॉक्टर डी तथा युगल फंस चुके हैं एक अनजान तथा वीरान ग्रह पर। और पृथ्वी की ओर बढ़ रही है एक भयानक प्रलय।
    अब देखना ये है की रिवर्स क्या करता है?

    नेक्स्ट पार्ट जल्दी लाएं।

    7 out of 10 because एडिटिंग करते वक़्त मैंने काफी गलतियां पाईं थी।

    1. सॉरी डॉक्टर डी गलती से लिख गया। डॉक्टर डी ही तो बढ़ रहे हैं उस प्रलय को लेकर पृथ्वी की ओर।

    2. तल्हा भाई सबसे पहले तो धन्यवाद कहानी पहले से पढ़ने के बावजूद रिव्यू देने के लिए । मैं आपको एक एक्स्ट्रा शुक्रिया कहना चाहूंगा क्योंकि आपने इस कहानी को एडिट करने के लिए बहुत मेहनत की और यही वजह है कि यह कहानी अच्छी बन सके , बिना किसी अतिरिक्त वर्ल्ड मिस्टेक के , वरना मेरी कहानियों में इतनी वर्ल्ड मिस्टेक होती है कि कहानी को पढ़ने में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं रहता । ( पर अब से ऐसा नहीं होगा क्योंकि आप मेरे साथ हो ) आपके द्वारा पूछे गए सवाल बिल्कुल सही है , रिवर्स के पास वह मशीन कहां से आयी इसका जवाब आपको रिवर्स की पिछली स्टोरी में मिलेगा ( जो आपने पढ़ रखी है पर शायद आप भूल गए ) जहां रिवर्स एक फैक्ट्री में कुछ एलियंस को यह वाली मशीन बनाने से रोकता है और इसके बाद इसे डॉक्टर डे के हाथों सौंप देता है । इसके बाद बात करते हैं रिवर्स के ओरिजन कि , तो अभी तो जल्दी से रिवर्स का ओरिजन नहीं आने वाला है , ( ज्यादा परेशान मत होना ) लेकिन रिवर्स के ओरिजन के लिए बहुत सी कड़ियां आपको इस स्टोरी में मिल जाएगी जो आपको रिवर्स के ओरिजन की तरफ लेकर जाएगी । रिवर्स का ओरिजन सच में बहुत शानदार होने वाला है क्योंकि उसके लिए मैंने बहुत कुछ स्पेशल सोच रखा है और ऊपर से रिवर्स का ओरिजन टाइम ट्रैवलिंग से रिलेटेड है तो वह थोड़ा उलझा हुआ भी होगा ‌। इसलिए मैं चाहता हूं कि सबसे पहले कड़ियों से शुरुआत करूं ताकि जब रिवर्स का ओरिजन आए तो उसे समझने में ज्यादा दिक्कत ना हो और इसके लिए अभी बहुत ही स्टोरियां आना बाकी है , रिवर्स के ओरिजन में निधि का भी बहुत बड़ा रोल है जो आपको निधि की कहानी में देखने को मिलेगा बिकॉज निधि रिवर्स का एक्स फैक्टर साबित होने वाली है ‌। अब बात करते हैं कहानी की तो अभी तो और भी बहुत कुछ होना बाकी है और क्या होना बाकी है यह तो मुझे भी नहीं पता ( spoiler alert )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.